साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

दीवारें बोलती हैं, चित्र-2 पुस्तकालय की दीवारों पर फूल, घास, मैदान, पहाड़ के चित्र

दीवारें बोलती हैं, चित्र-2 पुस्तकालय की दीवारों पर फूल, घास, मैदान, पहाड़ के चित्र         रा० इ० का० नाई (अल्मोड़ा) में प्रोजेक्ट कायाकल्प के तीसरे भाग ‘दीवारें बोलती हैं’ के अंतर्गत विद्यालय की दीवारों में चित्रांकन, पेंटिंग व लेखन का कार्य किया गया। इस भाग को हिंदी प्रवक्ता डॉ. पवनेश ठकुराठी के

अल्मोड़ा में इन दिनों लगा हुआ है नंदादेवी का मेला: देखिए आकर्षक तस्वीरें 

अल्मोड़ा में इन दिनों लगा हुआ है नंदादेवी का भव्य मेला          सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में इन दिनों माँ नंदा देवी का मेला आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। लोग दूर-दराज से आकर मेले का आनंद ले रहे हैं और नंदादेवी मंदिर परिसर के आसपास लगे मेले में खूब खरीददारी कर रहे

रा० इ० का० नाई में प्रवेशोत्सव का आयोजन

रा० इ० का० नाई में प्रवेशोत्सव का आयोजन          अल्मोड़ा, रा० इ० का० नाई, वि०खं० ताकुला में प्रवेशोत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सर्वप्रथम प्रधानाचार्य व शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा नव प्रवेशित छात्र-छात्राओं व अभिभावकों का स्वागत किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत में विद्यालय की छात्राओं द्वारा स्वागत गीत की प्रस्तुति दी

प्रोजेक्ट कायाकल्प, दीवारें बोलती हैं, पुस्तकालय-बाहरी दीवार, चित्र-1, किताब पढ़ती लड़की

प्रोजेक्ट कायाकल्प, भाग-3, दीवारें बोलती हैं         रा० इ० का० नाई (अल्मोड़ा) में प्रोजेक्ट कायाकल्प के तीसरे भाग ‘दीवारें बोलती हैं’ के अंतर्गत विद्यालय की दीवारों में चित्रांकन, पेंटिंग व लेखन का कार्य किया गया। इस भाग को हिंदी प्रवक्ता डॉ. पवनेश ठकुराठी के दिशा-निर्देश में संपन्न किया गया। इस हेतु उन्हें

पिथौरागढ़ के बसोड़ (अलगड़ा) गाँव में आयोजित हिलजात्रा के खूबसूरत दृश्य

पिथौरागढ़ के बसोड़ (अलगड़ा) गाँव में आयोजित हिलजात्रा के खूबसूरत दृश्य आजकल पिथौरागढ़ में लोकोत्सव ‘हिलजात्रा’ की धूम मची हुई है। देखिए जनपद के बसोड़ (अलगड़ा) गाँव में हुई हिलजात्रा की कुछ तस्वीरें- तस्वीरें  साभार: City Pithoragarh

पिथौरागढ़ के भुरमुनी गाँव में आयोजित हिलजात्रा के खूबसूरत दृश्य

पिथौरागढ़ के भुरमुनी गाँव की हिलजात्रा के दृश्य       आजकल पिथौरागढ़ में लोकोत्सव ‘हिलजात्रा’ की धूम मची हुई है। देखिए जनपद के भुरमुनी गाँव में हुई हिलजात्रा की कुछ तस्वीरें- तस्वीरें साभार- Lalit Dhanik, City Pithoragarh

प्रोजेक्ट कायाकल्प: भाग 2, रंगाई-पुताई- मुस्कुराती दीवारें

प्रोजेक्ट कायाकल्प: भाग 2, रंगाई-पुताई- मुस्कुराती दीवारें       प्रोजेक्ट कायाकल्प के पहले भाग ‘इमारतें जिंदा होंगी’ को सफलतापूर्वक पूर्ण करने के बाद रा० इ० का० नाई (अल्मोड़ा) के विद्यालय प्रबंधन के समक्ष लक्ष्य था विद्यालय की दीवारों को रंगने का। इसीलिए प्रोजेक्ट के इस दूसरे भाग को नाम दिया गया- मुस्कुराती दीवारें।   

प्रोजेक्ट कायाकल्प: भाग- 1, लघु मरम्मत- इमारतें जिंदा होंगी

प्रोजेक्ट कायाकल्प: भाग- 1, लघु मरम्मत- इमारतें जिंदा होंगी         रा० इ० का० नाई (अल्मोड़ा) में विद्यालय के समस्त शिक्षकों ने प्रधानाचार्य अनिल कुमार कठेरिया जी के साथ एक मीटिंग के दौरान यह निर्णय लिया कि विद्यालय को एक खूबसूरत स्वरूप प्रदान किया जाय। इस हेतु विद्यालय के सीमित व उपलब्ध आर्थिक

पिथौरागढ़ की विशिष्ट लोक नाट्य परंपरा: हिलजात्रा 

पिथौरागढ़ की विशिष्ट लोक नाट्य परंपरा: हिलजात्रा          पिथौरागढ़ जनपद के सोर घाटी में लगभग 400 सालों से हिलजात्रा लोक उत्सव की परंपरा चली आ रही है। वर्षा ऋतु के आगमन पर स्थानीय निवासियों के द्वारा सामूहिक रूप से इसका आयोजन किया जाता है। हिलजात्रा कृषि से जुड़ा लोकोत्सव है, जिसमें स्थानीय

पिथौरागढ़ का सातूं-आठूं लोकपर्व: देखिए खूबसूरत तस्वीरें

पिथौरागढ़ का सातूं-आठूं लोकपर्व    पिथौरागढ़। सीमांत जनपद में सातूं-आठूं महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। सातूं-आठूं भगवान शिव और पार्वती (गौरा- महेश्वर) को बेटी और जमाई के रूप में विवाह बंधन में बांधने का पर्व है। इस पर्व के दौरान गौरा और महेश के विवाह की रस्में निभाई जाती हैं और बेटी व
error: Content is protected !!