साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

Category: उत्तराखंड की तस्वीरें

अल्मोड़ा में इन दिनों लगा हुआ है नंदादेवी का मेला: देखिए आकर्षक तस्वीरें 

अल्मोड़ा में इन दिनों लगा हुआ है नंदादेवी का भव्य मेला          सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में इन दिनों माँ नंदा देवी का मेला आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। लोग दूर-दराज से आकर मेले का आनंद ले रहे हैं और नंदादेवी मंदिर परिसर के आसपास लगे मेले में खूब खरीददारी कर रहे

पिथौरागढ़ के बसोड़ (अलगड़ा) गाँव में आयोजित हिलजात्रा के खूबसूरत दृश्य

पिथौरागढ़ के बसोड़ (अलगड़ा) गाँव में आयोजित हिलजात्रा के खूबसूरत दृश्य आजकल पिथौरागढ़ में लोकोत्सव ‘हिलजात्रा’ की धूम मची हुई है। देखिए जनपद के बसोड़ (अलगड़ा) गाँव में हुई हिलजात्रा की कुछ तस्वीरें- तस्वीरें  साभार: City Pithoragarh Share this post

पिथौरागढ़ के भुरमुनी गाँव में आयोजित हिलजात्रा के खूबसूरत दृश्य

पिथौरागढ़ के भुरमुनी गाँव की हिलजात्रा के दृश्य       आजकल पिथौरागढ़ में लोकोत्सव ‘हिलजात्रा’ की धूम मची हुई है। देखिए जनपद के भुरमुनी गाँव में हुई हिलजात्रा की कुछ तस्वीरें- तस्वीरें साभार- Lalit Dhanik, City Pithoragarh Share this post

पिथौरागढ़ का सातूं-आठूं लोकपर्व: देखिए खूबसूरत तस्वीरें

पिथौरागढ़ का सातूं-आठूं लोकपर्व    पिथौरागढ़। सीमांत जनपद में सातूं-आठूं महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। सातूं-आठूं भगवान शिव और पार्वती (गौरा- महेश्वर) को बेटी और जमाई के रूप में विवाह बंधन में बांधने का पर्व है। इस पर्व के दौरान गौरा और महेश के विवाह की रस्में निभाई जाती हैं और बेटी व

आखिर क्यों चर्चा में है ‘छह साल की छोकरी’ ? जानिए विशेषज्ञों की राय।

छह साल की छोकरी: बहस के दायरे में      NCERT की कक्षा-1 की हिंदी की किताब ‘रिमझिम’ की ‘छै साल की छोकरी’ कविता को लेकर सोशल मीडिया में जोरदार बहस छिड़ गई है। कुछ लोग तो बिना कवि और उसके कालखंड को जाने टिप्पणी कर रहे हैं। यह कविता कवि रामकृष्ण शर्मा खद्दर की

त्रिभुवन गिरि का आंचलिक खंडकाव्य: क्या पहचान प्रिया की होगी

हिंदी खंडकाव्य: क्या पहचान प्रिया की होगी साथियों, पुस्तक चर्चा के अन्तर्गत आज हम बात करेंगे हिंदी खंडकाव्य ‘क्या पहचान प्रिया की होगी’ की। इस खंडकाव्य के रचयिता हैं- त्रिभुुवन गिरि।   खंडकाव्य के विषय में- क्या पहचान प्रिया की होगी      ‘क्या पहचान प्रिया की होगी’ उत्तराखंड के प्रसिद्ध लेखक त्रिभुवन गिरि का हिंदी

72वें गणतंत्र दिवस के लिए उत्तराखंड की झांकी है तैयार

राजपथ पर कल यूँ दिखाई देगा उत्तराखंड का सौंदर्य- 72वें गणतंत्र दिवस के लिए उत्तराखंड की झांकी है तैयार          कल संपूर्ण देश 72वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिए उत्साहित है। कोरोना महामारी के कारण इस बार राजपथ पर आयोजित परेड में कोई मुख्य अतिथि ( चीफ गेस्ट) नहीं होगा। देश के

कक्षा-12, हिंदी, वर्ष 2016 की उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा का प्रश्न पत्र

कक्षा-12, हिंदी, वर्ष 2016 की उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा का प्रश्न पत्र 1. प्रश्न पत्र आनलाइन पढ़िए-   2. प्रश्न पत्र का पीडीएफ डाउनलोड कीजिए- Hindi_Class_12_2016 Share this post

अनुवाद लेखन से होगा कुमाउनी साहित्य का विकास- मोहन चंद्र जोशी

अनुवाद लेखन से होगा कुमाउनी साहित्य का विकास *12 वां तीन दिवसीय राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन हुआ शुरू।  * स्थान- पं० जी० बी० पंत राजकीय संग्रहालय, अल्मोड़ा।         कुमाउनी में अनुवाद का कार्य व्यापक स्तर पर हो रहा है। अन्य भाषाओं के श्रेष्ठ साहित्य का कुमाउनी में अनुवाद करने से कुमाउनी साहित्य का

अल्मोड़ा दशहरा: देखिए रावण परिवार के भयानक पुतले

अल्मोड़ा दशहरा: रावण परिवार के भयानक पुतले      अल्मोड़ा के दशहरे को विश्व पटल पर प्रतिष्ठित करने में यहाँ बनने वाले रावण परिवार के पुतलों का विशेष महत्व है। देखिए पिछले वर्ष के रावण परिवार के भयानक पुतले- Share this post
error: Content is protected !!