साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

भगवान बागनाथ की नगरी में संपन्न होगा 13वां राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन

भगवान बागनाथ की नगरी में संपन्न होगा 13वां राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन

      बागेश्वर, वर्ष 2021 का 3 दिवसीय राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन भगवान बागनाथ की नगरी बागेश्वर में संपन्न होगा। सम्मेलन बागेश्वर के नरेंद्रा वेंकट हाल में आयोजित किया जायेगा। 

      बागेश्वर के एक होटल में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि इस बार का त्रिदिवसीय राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन 25, 26, 27 दिसम्बर, 2021 को बागेश्वर में आयोजित किया जायेगा, जिसमें देशभर के कुमाउनी साहित्यकार व भाषा-प्रेमी प्रतिभाग करेंगे। इस सम्मेलन में कुमाउनी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति के उत्थान हेतु व्यापक विचार मंथन होगा। ‘पहरू’ संपादक डॉ. हयात सिंह रावत ने बताया कि कुमाउनी को संविधान की 8वीं अनुसूची में स्थान दिलाना, कुमाउनी साहित्य की अभिवृद्धि करना और कुमाउनी भाषा के विकास हेतु प्रयास करना सम्मेलन की चर्चा के मुख्य विषय होंगे। 

  • 25, 26, 27 दिसम्बर को बागेश्वर में आयोजित होगा  3 दिवसीय राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन। 
  • नरेंद्रा वेंकट सभागार, बागेश्वर में आयोजित होगा सम्मेलन। 
  • तीनों दिन होगा कुमाउनी भाषा, साहित्य पर व्यापक  मंथन। 
  • लोक कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किये जाएंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम। 
  • होगा साहित्यकारों, रचनाकारों और लोक कलाकारों का सम्मान। 
  • लेखन प्रतियोगिताओं के प्रतिभागी होंगे पुरस्कृत। 
  • लगाई जायेगी कुमाउनी पुस्तकों की प्रदर्शनी।
  • होगा कुमाउनी पुस्तकों का लोकार्पण। 
  • कुमाउनी को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने की उठेगी मांग। 

      ज्ञातव्य हो कि कुमाउनी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति प्रचार समिति, कसारदेवी (अल्मोड़ा) एवं ‘पहरू’ कुमाउनी मासिक पत्रिका के तत्वावधान में तीन दिवसीय राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन विगत 12 वर्षों से निरंतर आयोजित होता रहा है। पिछले वर्ष का राष्ट्रीय कुमाउनी भाषा सम्मेलन अल्मोड़ा में ही आयोजित किया गया था। 

     मुख्य संयोजक वृक्ष मित्र किशन सिंह मलड़ा के संयोजन में उक्त बैठक की अध्यक्षता ऐडवोकेट जमन सिंह बिष्ट ने की। सम्मलेन के कार्यक्रम की रूपरेखा समिति सचिव डॉ. हयात सिंह रावत, रमेश प्रकाश पर्वतीय, डॉ. के एस रावत, डॉ. गोपाल कृष्ण जोशी, डॉ. राजीव जोशी, डॉ. शैलेन्द्र धपोला, भाष्कर नेगी, अक्षय कुमार, नरेंद्र खेतवाल, डॉ. रविन्द्र कोहली, डॉ. के. एन. कांडपाल, दीप पाण्डेय, विनोद प्रकाश, मोहन धामी, डॉ. हरीश दफौटी, नितिन जोशी आदि की मौजूदगी में तय की गई। 

Share this post
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!