साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

उत्तराखंड के जनपद

उत्तराखंड के जनपद

        उत्तराखंड कुमाऊ मंडल तथा गढ़वाल मंडल नाम के दो मंडलों में बंटा है। कुमाऊ मंडल की स्थापना 1854 में हुई तथा इसका मुख्यालय नैनीताल है। गढ़वाल मंडल की स्थापना 1969 में हुई और इसका मुख्यालय पौड़ी में है। 

        उत्तराखंड राज्य में कुल 13 जिले हैं, जिसमेें से नैनीताल, अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़, चम्पावत तथा उधमसिंह नगर कुल 6 जिले कुमाऊ मंडल में तथा पौड़ी गढ़वाल, टिहरी गढ़वाल, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, हरिद्वार तथा देहरादून कुल 7 जिले गढ़वाल मंडल में हैंं। 

        उत्तराखंड का कुल भौगोलिक क्षेत्रफल 53483 वर्ग किमी. है। क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला चमोली तथा सबसे छोटा जिला चम्पावत है। क्षेत्रफल की दृष्टि से उत्तराखंड देश के कुल क्षेत्रफल का 1.69 % है। 

        2011 की जनगणना के अनुसार उत्तराखंड की कुल जनसँख्या 1,00,86,292 है जो देश की कुल जनसँख्या का 0.83% है जनसँख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला हरिद्वार तथा सबसे छोटा जिला रुद्रप्रयाग है।

उत्तराखंड के जनपदों की सूची निम्नलिखित है-

जनपद

स्था.वर्ष

मुख्या.

क्षेत्र वर्ग किमी. में

 विशेेषता

देेेेहरादून  1817 देहरादून 3088 वन भूूूमि
पौड़ी 1840 पौड़ी 5329 कण्वाश्रम
अल्मोड़ा 1891 अल्मोड़ा 3139 सांस्कृतिक भूमि
नैैैनीताल  1891 नैनीताल 4251 झीलों के लिए प्रसिद्ध
टिहरी 1949 नई टिहरी  3642  देवप्रयाग
पिथौरागढ़ 1960 पिथौरागढ़ 7090  सोर घाटी
उत्तरकाशी  1960 उत्तरकाशी 8016 गंगोत्री, यमुनोत्री
चमोली 1960 गोपेश्वर 8030 फूलों की घाटी 
हरिद्वार 1988 हरिद्वार 2360 कुंभ मेला
ऊ.सि.न. 1995 रुद्रपुर 2542 गोविषाण
रुद्रप्रयाग 1997 रुद्रप्रयाग 1984 केदारनाथ
चंंपावत 1997 चंपावत 1766 बग्वाल मेला
बागेश्वर 1997 बागेश्वर 2246 बागनाथ भूमि
Share this post
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!