साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

Tag: प्रधानाचार्य

प्रोजेक्ट कायाकल्प: भाग- 1, लघु मरम्मत- इमारतें जिंदा होंगी

प्रोजेक्ट कायाकल्प: भाग- 1, लघु मरम्मत- इमारतें जिंदा होंगी         रा० इ० का० नाई (अल्मोड़ा) में विद्यालय के समस्त शिक्षकों ने प्रधानाचार्य अनिल कुमार कठेरिया जी के साथ एक मीटिंग के दौरान यह निर्णय लिया कि विद्यालय को एक खूबसूरत स्वरूप प्रदान किया जाय। इस हेतु विद्यालय के सीमित व उपलब्ध आर्थिक

मंजिल की ओर

मंजिल की ओर रमेश कक्षा तीन में पढ़ता था। वह पढ़ने में अत्यधिक होशियार था। इसी वजह से रमेश के पिताजी उसे कक्षा तीन से सीधे कक्षा पांच में एडमिशन दिलाना चाहते थे। जब रमेश ने तीसरी कक्षा भी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की तब रमेश के पिता ने विद्यालय के प्रधानाचार्य जी से कहा-
error: Content is protected !!