साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

रा० इ० का नाई में जल संरक्षण कार्यशाला के पहले दिन आयोजित हुई विविध प्रतियोगिताएँ

रा० इ० का नाई में जल संरक्षण कार्यशाला के पहले दिन आयोजित हुई विविध प्रतियोगिताएँ

अल्मोड़ा, उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केंद्र (USERC), देहरादून के तत्वावधान में रा० इ० का नाई (ताकुला) में आयोजित कार्यशाला के पहले दिन विद्यालय के प्रधानाचार्य अनिल कुमार कठेरिया व मुख्य अतिथि दिलीप कुमार आर्या, प्रधानाचार्य रा. प्रा. विद्यालय ढौल ने सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया। तत्पश्चात कार्यशाला के संयाजक भूगोल प्रवक्ता रमेश सिंह रावत ने दो दिवसीय कार्यशाला की रूपरेखा सभी आगंतुक शिक्षकों एवं प्रतिभागी विद्यार्थियों के समक्ष रखी। 

        कार्यशाला में पहले दिन जूनियर और सीनियर दो वर्गों में जनपद स्तरीय सामान्य ज्ञान, चित्रकला, भाषण, माॅडल, निबंध प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इन प्रतियोगिताओं में जनपद के आ० रा० इ० का० गणनाथ, म० गा० स्मा० इ० का० चनौदा, रा० बा० इ० का० सारकोट, रा० इ० का० सुनौली, रा० इ० का०भकूना, श्रीराम विद्या मंदिर इ० का० डोटियालगाँव, रा० इ० का० नाई, रा० उ० मा० वि० गंगोलाकोटुली के छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया। 

     प्रतियोगिता में सामान्य ज्ञान की सीनियर वर्ग प्रतियोगिता में 17 और जूनियर वर्ग में 13 छात्र- छात्राओं ने प्रतिभाग किया। चित्रकला की सीनियर वर्ग प्रतियोगिता में 40 और जूनियर वर्ग में 17 छात्र- छात्राओं ने प्रतिभाग किया। निबंध की सीनियर वर्ग प्रतियोगिता में 16 और जूनियर वर्ग में 19 छात्र- छात्राओं ने प्रतिभाग किया, माॅडल की सीनियर और जूनियर प्रतियोगिताओं में 7-7 छात्र- छात्राओं ने प्रतिभाग किया और भाषण की सीनियर वर्ग प्रतियोगिता में 8 और जूनियर वर्ग में 7 छात्र- छात्राओं ने प्रतिभाग किया। 

        प्रतियोगिताओं के मूल्यांकन में श्रद्धा रावत, रबिता मेहरा, डिंपल जोशी, आर. डी. सरोज, विरेंद्र सिंह सिजवाली, ललित पंत, हरिवंश सिंह बिष्ट, बलदेव सिंह तिरूवा, गणेश चंद्र शर्मा, प्रमोद मेहरा, नवल किशोर, मंजू वर्मा, आशा पांडे, सोनम देवी, शिखा कांडपाल, अजरा परवीन, दीपक नगरकोटी, रजनीश कुमार, डॉ. पवनेश ठकुराठी ने सहयोग किया। मूल्यांकन समिति प्रभारी अंकित जोशी ने बताया कि सभी प्रतियोगिताओं के परिणाम कल घोषित किये जायेंगे। 

       कार्यशाला के अंत में संयोजक रमेश सिंह रावत ने अपने संबोधन में कहा कि कार्यशाला के दूसरे दिन जल विज्ञानी एवं भूगोलवेत्ता प्रो. जे. एस. रावत ‘जल संसाधनों के पुनर्जीवन, गुणवत्ता संरक्षण एवं प्रबंधन में विद्यार्थियों की भूमिका’ विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत करेंगे और सभी विजेता छात्र- छात्राओं को पुरस्कृत करेंगे। 

       कार्यशाला में प्रमोद परगाईं, निर्मला रावत, गीता शर्मा, मो. रिहान अंसारी, भूपेंद्र सिंह नयाल, तारा अल्मिया, चंदन सिंह बिष्ट, कमला देवी, भगवती देवी, राजेंद्र सिंह बिष्ट, पारस सिंह बिष्ट, तनुजा अल्मिया, हिमानी अल्मिया, प्रिया नयाल, सुमित कुमार, संदीप नयाल आदि समेत अनेक शिक्षिक – शिक्षिकाएं व छात्र छात्राएं मौजूद रहे। 

Share this post

Add a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!