साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

रा० इ० का० नाई में आज आयोजित होगी कोसी पुनर्जनन कार्यशाला

रा० इ० का० नाई में आज आयोजित होगी कोसी पुनर्जनन कार्यशाला

  • कार्यशाला की तिथि- 17 फरवरी, 2020
  • विषय- ‘कोसी नदी संरक्षण एवं पुनर्जनन’
  • मुख्य व्याख्यानदाता- प्रो० जे० एस० रावत 
  • विशिष्ट व्याख्यानदाता- श्रीमती संचिता वर्मा
  • आयोजक- यूसर्क ( देहरादून )।

    उत्तराखंड विज्ञान, शिक्षा एवं अनुसंधान केंद्र (USERC) देहरादून के तत्वाधान में रा० इ० का० नाई विकास खंड- ताकुला, जनपद-अल्मोड़ा में कोसी पुनर्जनन अभियान, द्वितीय चरण के अन्तर्गत दि० 17 फरवरी, 2020 ( सोमवार ) को कोसी नदी पुनर्जनन अभियान से संबंधित ‘कोसी नदी संरक्षण एवं पुनर्जनन’ विषयक एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यशाला में प्रो० जे० एस० रावत ( निदेशक, एन० आर० डी० एम० एस० अल्मोड़ा, भूगोल विभागाध्यक्ष, एस० एस० जे० परिसर, अल्मोड़ा) मुख्य अतिथि के रूप में व्याख्यान देंगे। विशिष्ट अतिथि रहेंगी श्रीमती संचिता वर्मा ( वन क्षेत्राधिकारी, अल्मोड़ा, रिसोर्स पर्सन, कोसी पुनर्जनन अभियान, अल्मोड़ा )।  

      इस कार्यशाला में ताकुला विकास-खंड के रा० इ० का० गणानाथ, रा० इ० का० सुनौली, रा० क० इ० का० सारकोट, रा० इ० का० भकूना, रा० उ० मा० वि० गंगोलाकोटुली व रा० इ० का० नाई कुल 6 कालेजों के 100 से अधिक विद्यार्थी प्रतिभाग कर रहे हैं। इन विद्यार्थियों के मध्य कनिष्ठ व वरिष्ठ दो वर्गों में क्रमशः निबंध, चित्रकला और भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा।

  • प्रतियोगिताएँ- निबंध, चित्रकला और भाषण। 
  • प्रतिभागी विद्यालय- रा० इ० का० गणानाथ, रा० इ० का० सुनौली, रा० बा० इ० का० सारकोट, रा० इ० का० भकूना, रा० उ० मा० वि० गंगोलाकोटुली, रा० इ० का० नाई।

       इस कार्यशाला में ‘कोसी नदी संरक्षण और पुनर्जनन’ विषय पर व्यापक मंथन होना है। कार्यक्रम के तरह वृक्षारोपण और पर्यावरण आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होने हैं। नयाल सिरीज के पूरन सिंह नयाल और पी० टी० ए० अध्यक्ष नरेंद्र सिंह के संयोजन में दिल्ली से लोक कलाकारों का दल भी पहुँच चुका है। 

  • ताकि बचे कोसी-
  • कोसी रिचार्ज जोन में वृक्षारोपण
  • खाल-खंती निर्माण
  • सांस्कृतिक कार्यक्रमों द्वारा जन-जागरति
  • प्रतियोगिताओं द्वारा जागरूकता
  • कोसी पुनर्जनन अभियान पर व्यापक मंथन और भावी कार्ययोजना। 

        कार्यक्रम संयोजक श्री रमेश सिंह रावत ने बताया कि कोसी पुनर्जनन अभियान के द्वितीय चरण के अंतर्गत सम्पूर्ण राज्य में इस तरह की कार्यशाला का आयोजन करने वाला जी० आई० सी० नाई दूसरा विद्यालय है। कोसी पुनर्जनन अभियान के अंतर्गत इस तरह के कार्यों का आयोजन करने के लिए उन्होंने ‘यू-सर्क’ के कार्यों को सराहनीय बताया। उन्होंने कहा कि आयोजन को सफलतापूर्वक संपन्न करने के लिए विद्यालय ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। उन्होंने क्षेत्र की जनता से अपील की है कि अधिकाधिक संख्या में पहुंचकर कार्यशाला को सफल बनाएं। 
        इधर कार्यक्रम को सफलता तक पहुंचाने के लिए विद्यालय की युवा टीम निरंतर सक्रिय है। क्षेत्र में पहली बार हो रहे इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों के पहुंचने की उम्मीद है। 

Share this post
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!