साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

Tag: कुमाउनी कविता पुरस्कार

चंद्रशेखर कांडपाल की कुमाउनी कविताएँ

  चंद्रशेखर कांडपालकि कुमाउनी कविता                   १. उत्तराखंड राज्य विकासक् नाम परि बणौ उत्तराखंड राज्य। बाव् बै अब उन्नीस सालक् हैगो ज्वान। गधेरू नेताओंक् ले खूब हैरे बहार। अखवार और भाषणों में जी मिलि रौ रूजगार। जो कभै पधान नीं बण सकछी, आज विधायक-सांसद बणि गेई। आपूंणि आघिल

ज्योति तिवारी काण्डपाल की कुमाउनी कविताएँ

ज्योति तिवारी काण्डपालकि कुमाउनी कविता              १. मीं एक चेलि छीं एक तरफ चेलि अंतरिक्ष में पुंज गेईं। वैज्ञानिक ले मंगलयान, तीसर चन्द्रयानक् तैयारी में छन । डीएम, एसपी, लेफ्टिनेंट, सचिव पदों पर लै चेलि छन। यां तक कि प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, मुख्य न्यायाधीश पद तक पुंज गईं। हर रोज अघिल

शेर सिंह बिष्ट ‘अनपढ़’ कुमाउनी कविता पुरस्कार- 2019

शेर सिंह बिष्ट ‘अनपढ़’ कुमाउनी कविता पुरस्कार- 2019        इस वर्ष का शेर सिंह बिष्ट ‘अनपढ़’ कुमाउनी कविता पुरस्कार कुमाउनी के प्रसिद्ध कवि मोहन चंद्र जोशी को दिया जायेगा। इस पुरस्कार हेतु गठित चयन समिति के सदस्यों महंत त्रिभुवन गिरि, डाॅ. कपिलेश भोज और डाॅ. मनोहर जोशी द्वारा विचार विमर्श बाद श्री मोहन
error: Content is protected !!