साथियों, देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है। इसलिए हम सभी को सजग रहने की जरूरत है। वैक्सीन जरूर लगायें और कोविड नियमों का पालन करें। तभी हम स्वयं की व दूसरों की सुरक्षा कर पाने में सक्षम हो पायेेंगे।

Tag: ब्रजेंद्र लाल साह

लोक संस्कृति के कुशल चितेरे: ब्रजेंद्र लाल साह

जन्मदिन विशेष:  लोक संस्कृति के कुशल चितेरे: ब्रजेंद्र लाल साह         रंगकर्मी व रचनाकार ब्रजेंद्र लाल साह का जन्म 13 अक्टूबर, 1928 को अल्मोड़ा में हुआ था। आपने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा ग्रहण की और विशेषकर हिंदी कविता, नाटक, कहानी, उपन्यास आदि विधाओं में अपनी लेखनी चलाई। शैलसुता, अष्टावक्र और गंगानाथ

मां नंदा की महिमा गाथा- माँ नंदा चालीसा

प्रिय पाठकों, क्या आपको पता है गोस्वामी तुलसीदास जी रचित ‘हनुमान चालीसा’ की तर्ज पर ‘माँ नंदा चालीसा’ की भी रचना की गई है। आइये जानते हैं इस पुस्तक के विषय में- पुस्तक के विषय में- माँ नंदा चालीसा         ‘माँ नंदा चालीसा’ की रचना प्रसिद्ध रंगकर्मी ब्रजेंद्र लाल साह ने की।
error: Content is protected !!